Browsing Category: Aarti Sangrah

  • All Post
  • Aarti Sangrah
  • Chalisa Sangrah
  • Gyan Ki Baaten
  • Kavach Sangrah
  • Shabar Mantra
  • Strotra Sangrah
  • देवी देवताओं के 108 नाम
Aarti Shri Chamunda Devi Ji Ki

॥ आरती श्री चामुण्डा देवी जी की ॥ ॥ Aarti Shri Chamunda Devi Ji Ki ॥ जय अम्बे गौरी मैया जय श्यामा गौरी। निशिदिन तुमको ध्यावत, हरि ब्रह्मा शिवजी॥ जय अम्बे माँग सिन्दूर विराजत, टीको, मृगमद को। उज्जवल से दोउ नयना, चन्द्रबदन नीको॥ जय अम्बे कनक समान कलेवर, रक्ताम्बर राजे। रक्त पुष्प गलमाला, कंठ हार साजे॥ जय अम्बे हरि वाहन राजत खड्ग खप्पर धारी। सुर नर मुनिजन सेवत, तिनके दु:ख हारी॥ जय…

Aarti Shri Durga Ji Ki

॥ आरती श्री दुर्गा जी की ॥ ॥ Aarti Shri Durga Ji Ki ॥ जय अम्बे गौरी, मैया जय श्यामा गौरी तुम को निस दिन ध्यावत मैयाजी को निस दिन ध्यावत हरि ब्रह्मा शिवजी ॥ जय अम्बे गौरी ॥ १ ॥ माँग सिन्दूर विराजत टीको मृग मद को ।मैया टीको मृगमद को उज्ज्वल से दो नैना चन्द्रवदन नीको॥ जय अम्बे गौरी ॥ २ ॥ कनक समान कलेवर रक्ताम्बर साजे। मैया रक्ताम्बर साजे…

Aarti Shri Kalimata Ki

॥ आरती श्री कालीमाता की ॥ ॥ Aarti Shri Kalimata Ki ॥ मंगल की सेवा सुन मेरी देवा ,हाथ जोड तेरे द्वार खडे। पान सुपारी ध्वजा नारियल ले ज्वाला तेरी भेट धरेसुन॥१॥ जगदम्बे न कर विलम्बे, संतन के भडांर भरे। सन्तन प्रतिपाली सदा खुशहाली, जै काली कल्याण करे ॥२॥ बुद्धि विधाता तू जग माता ,मेरा कारज सिद्व रे। चरण कमल का लिया आसरा शरण तुम्हारी आन पडे॥३॥ जब जब भीड पडी भक्तन…

Aarti Shri Shani Dev Ji Ki

॥ आरती श्री शनि देवजी की ॥ ॥ Aarti Shri Shani Dev Ji Ki ॥ जय जय श्री शनिदेव भक्तन हितकारी। सूरज के पुत्र प्रभु छाया महतारी॥ जय॥ १ श्याम अंक वक्र दृष्ट चतुर्भुजा धारी। नीलाम्बर धार नाथ गज की असवारी॥ जय॥ २ क्रीट मुकुट शीश रजित दिपत है लिलारी। मुक्तन की माला गले शोभित बलिहारी॥ जय॥ ३ मोदक मिष्ठान पान चढ़त हैं सुपारी। लोहा तिल तेल उड़द महिषी अति प्यारी॥ जय॥…

Aarti Brahaspati Dev Ki

॥ आरती बृहस्पति देव की ॥ ॥ Aarti Brahaspati Dev Ki ॥ जय बृहस्पति देवा, ऊँ जय बृहस्पति देवा । छि छिन भोग लगाऊँ, कदली फल मेवा ॥१॥ तुम पूरण परमात्मा, तुम अन्तर्यामी । जगतपिता जगदीश्वर, तुम सबके स्वामी ॥२॥ चरणामृत निज निर्मल, सब पातक हर्ता । सकल मनोरथ दायक, कृपा करो भर्ता ॥३॥ तन, मन, धन अर्पण कर, जो जन शरण पड़े । प्रभु प्रकट तब होकर, आकर द्घार खड़े ॥४॥…

Aarti Shri Surya Ji

॥ आरती श्री सूर्य जी ॥ ॥ Aarti Shri Surya Ji ॥ जय कश्यप-नन्दन, ॐ जय अदिति नन्दन। त्रिभुवन – तिमिर – निकन्दन, भक्त-हृदय-चन्दन॥ १ ॥ जय कश्यप-नन्दन, ॐ जय अदिति नन्दन। सप्त-अश्वरथ राजित, एक चक्रधारी। दु:खहारी, सुखकारी, मानस-मल-हारी॥ २ ॥ जय कश्यप-नन्दन, ॐ जय अदिति नन्दन। सुर – मुनि – भूसुर – वन्दित, विमल विभवशाली। अघ-दल-दलन दिवाकर, दिव्य किरण माली॥ ३ ॥ जय कश्यप-नन्दन, ॐ जय अदिति नन्दन। सकल – सुकर्म…

Aarti Shri Satya Narayan Ji Ki

॥ आरती श्री सत्यानारयण जी की ॥ ॥ Aarti Shri Satya Narayan Ji Ki ॥ ॐ जय लक्ष्मीरमणा स्वामी जय लक्ष्मीरमणा । सत्यनारायण स्वामी ,जन पातक हरणा रत्नजडित सिंहासन , अद्भुत छवि राजें । नारद करत निरतंर घंटा ध्वनी बाजें ॥ ॐ जय लक्ष्मीरमणा स्वामी…. प्रकट भयें कलिकारण ,द्विज को दरस दियो । बूढों ब्राम्हण बनके ,कंचन महल कियों ॥ ॐ जय लक्ष्मीरमणा स्वामी….. दुर्बल भील कठार, जिन पर कृपा करी ।…

Aarti Shri Ramayan Ji Ki

॥ आरती श्री रामायण जी की ॥ ॥ Aarti Shri Ramayan Ji Ki ॥ आरती श्री रामायण जी की कीरत कलित ललित सिय पिय की। गावत ब्रह्मादिक मुनि नारद बाल्मीक विज्ञानी विशारद। शुक सनकादि शेष अरु सारद वरनि पवन सुत कीरति निकी॥ १ ॥ आरती श्री रामायण जी की .. संतन गावत शम्भु भवानी असु घट सम्भव मुनि विज्ञानी। व्यास आदि कवि पुंज बखानी काकभूसुंडि गरुड़ के हिय की॥ २ ॥ आरती…

Aarti Shri Ram Chandra Ji Ki

॥ आरती श्री रामचन्द्रजी की ॥ ॥ Aarti Shri Ram Chandra Ji Ki ॥ श्री रामचन्द्र कृपालु भजु मन हरण भवभय दारुणं । नवकंज लोचन, कंजमुख, करकुंज, पदकंजारुणं ॥ श्री रामचन्द्र कृपालु भजु मन हरण भवभय दारुणं । श्री राम श्री राम…. कंदर्प अगणित अमित छबि, नवनीलनीरद सुन्दरं । पट पीत मानहु तडीत रुचि शुचि नौमि जनक सुतावरं ॥ श्री रामचन्द्र कृपालु भजु मन हरण भवभय दारुणं । श्री राम श्री राम….…

Aart Shri Kunj Bihari Ki

॥ आरती श्री कुंज बिहारी की ॥ ॥ Aart Shri Kunj Bihari Ki ॥ आरती कुंजबिहारी की, श्री गिरिधर कृष्णमुरारी की ॥ गले में बैजंती माला, बजावै मुरली मधुर बाला। श्रवण में कुण्डल झलकाला, नंद के आनंद नंदलाला। गगन सम अंग कांति काली, राधिका चमक रही आली । लतन में ठाढ़े बनमाली;भ्रमर सी अलक, कस्तूरी तिलक, चंद्र सी झलक;ललित छवि श्यामा प्यारी की ॥ श्री गिरिधर कृष्णमुरारी की… कनकमय मोर मुकुट बिलसै,…

Popular Posts

  • All Post
  • Aarti Sangrah
  • Chalisa Sangrah
  • Gyan Ki Baaten
  • Kavach Sangrah
  • Shabar Mantra
  • Strotra Sangrah
  • देवी देवताओं के 108 नाम

Newsletter

JOIN THE FAMILY!

You have been successfully Subscribed! Please Connect to Mailchimp first

Featured Posts

  • All Post
  • Aarti Sangrah
  • Chalisa Sangrah
  • Gyan Ki Baaten
  • Kavach Sangrah
  • Shabar Mantra
  • Strotra Sangrah
  • देवी देवताओं के 108 नाम

Categories

Tags

Edit Template

© 2024 SanatanDharam.co.in